अंकल आप नहीं आते तो न जाने क्या हो जाता रुड़की हरिद्वार में तैनात फायर सर्विस के जवान अतर सिंह राणा को फोन आया कि सहकारिता विभाग के कर्मचारी ताराचंद की तबीयत बिगड़ रही है जो करीब 6 दिन से कोरोना से संक्रमित हैं। यदि समय से अस्पताल में भर्ती नहीं कराया गया तो जान जा सकती है।

डाउनलोड शोरवी मार्ट ऐप
डाउनलोड शोरवी मार्ट ऐप

 

परिजनों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने का प्रयास किया लेकिन कहीं से भी उन्हें कोई राहत नहीं मिली। सूचना पर अतर सिंह ने आसपास के अस्पतालों से संपर्क कर बेड की व्यवस्था देखी।

डाउनलोड शोरवी मार्ट ऐप
डाउनलोड शोरवी मार्ट ऐप

 

इस बीच आजाद नगर चौक स्थिति एक निजी अस्पताल में बेड खाली मिल गया और समय रहते उन्हें अस्पताल में भर्ती कर दिया गया, जो अब काफी स्वस्थ हैं। इसके लिए ताराचंद जी के बच्चों ने अतर सिंह का धन्यवाद करते हुए कहा अंकल आप नहीं आते तो न जाने क्या हो जाता। अतर सिंह ने उन्हें आगे भी हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

 

शोरवी मार्ट
शोरवी मार्ट

 

उत्तराखंड पुलिस की यह पहली बान की नहीं है उत्तराखंड के अंदर तमाम ऐसी घटनाएं हैं जो उत्तराखंड पुलिस को प्रोत्साहन करने योग्य है उत्तराखंड पुलिस अपने कार्य के प्रति कितनी जिम्मेदार है यह उनकी कार्यशैली से प्रतीत हो रहा है|

 

डाउनलोड शोरवी मार्ट एप्लीकेशन
डाउनलोड शोरवी मार्ट एप्लीकेशन

 

उत्तराखंड पुलिस देवदूत बनकर बचा रहे मरीजो की जान, कर रहे प्लाज़्मा दान

 

आज ही वैक्सीन के लिए रजिस्टर करें |
आज ही वैक्सीन के लिए रजिस्टर करें |

 

श्रीमती अलकनंदा अशोक ने पुलिस कर्मियों को दिए कोविड से बचाव एवं मानसिक रुप से सुदृढ़ बने रहने हेतु सुझाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here