देहरादून :भारत के सभी राज्यों में लगाया जा सकता है लॉकडाउन| भारत देश के अंदर एक बार फिर कोरोना के बढ़ते आमजन की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा है कोरोनावायरस बढ़ता देख सरकार एक बार फिर स्कूलों को कुछ समय के लिए बंद करने का विचार कर रही है शिक्षा विभाग ने इन का प्रस्ताव तैयार कर लिया है जो शुक्रवार को होने वाली कैबिनेट बैठक में रखा जाएगा उच्च पदस्थ सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है सूत्रों के अनुसार शिक्षा विभाग ने बोर्ड कक्षाओं को छोड़ बाकी कक्षाएं कुछ समय को बंद करने की सिफारिश की है विभाग का मानना है कि बोर्ड परीक्षा होने से दसवीं और बारहवीं कक्षाओं को जारी रखना छात्र हित में उचित होगा साथ ही उम्र में बड़े होने से बोर्ड के छात्रों से कोरोनावायरस पालन आसानी से कराया जा सकता है|

https://ply.gl/com.tbi.shorvimart

रात्रिकालीन कर्फ्यू पर भी सरकार गंभीर

सरकारी प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने कहा की कुछ राज्यों ने कोरोना काबू करने के लिए रात्रिकालीन कर्फ्यू पर भी विचार है कुछ राज्यों ने कोरोनावायरस एकोनाइट कर क्यों का प्रयोग लागू भी किया है स्कूलों पर उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को सुरक्षा देना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है सभी पहलुओं पर लगातार अध्ययन किया जा रहा है जनहित में भी उचित होगा सरकार वही निर्णय करेगी।
तू वही एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय ने महाकुंभ को देखते हुए 9 अप्रैल से 15 अप्रैल तक की सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी है हालांकि पैरामेडिकल कॉलेज की परीक्षाएं जारी रहेंगी परीक्षाओं की नई तिथियां जल्द ही जारी की जाएगी

शोरवी मार्ट
शोरवी मार्ट

इस महामारी में 7 पॉइंट 5 करोड़ बड़ी गरीबों की संख्या

कोरोनावायरस ने दुनिया के कई देशों को फिर गरीबी की दलदल में धकेल दिया है भारत में बीते साल 4 पॉइंट 5 करोड लोग गरीब हो गए और इसके साथ ही देश में गरीबों की कुल आंकड़ा 5 पॉइंट 9 करोड़ से बढ़कर 13 पॉइंट 40 करोड यानी दोगुने से भी ज्यादा हो गया है पीयू रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here