उत्तराखंड में नए जिलों के गठन का रास्ता साफ, जनप्रतिनिधियों से चर्चा के बाद जनता से लिए जाएंगे सुझाव 

उत्तराखंड में नए जिलों के गठन का रास्ता साफ हो सकता है। उत्तराखंड सरकार इसके लिए जल्द जनप्रतिनिधियों से चर्चा करने के साथ जनता का सुझाव लेने जा रही है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिह धामी ने संकेत दिएl

आपदा कंट्रोल रूम पहुंचे सीएम

 

उत्तराखंड में नए जिलों के गठन का रास्ता साफ हो सकता है। उत्तराखंड सरकार इसके लिए जल्द जनप्रतिनिधियों से चर्चा करने के साथ जनता का सुझाव लेने जा रही है। बुधवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह संकेत दिए हैं। सीएम ने कहा कि उत्तराखंड में लंबे समय से नए जिलों के गठन की मांग चली आ रही है।

 

इसे भी पढ़ें – UKSSSC पेपर लीक: पूर्व सचिव संतोष बडोनी सस्पेंड, STF ने अबतक 31 लोगों को किया गिरफ्तार 

इसके तहत, ऋषिकेश, पुरोला, रूड़की, कोटद्वार, काशीपुर, रानीखेत व डीडीहाट शहरों पर विचार किया जा रहा है। कहा कि सरकार इस दिशा में भी आगे बढ़ रही है और जल्द ही इसके लिए जनता से सुझाव भी लिए जाएंगे। उन्होंने संकेत दिया कि गढ़वाल में चार तो कुमाऊं मंडल में तीन नए जिले बन सकते हैं।

 

इसे भी पढ़ें-UKSSSC व विधानसभा भर्ती में घोटालों को लेकर उत्तराखंड सरकार के विरोध में उतरा अभाविप छात्र संगठन 

 

सीएम धामी ने कहा कि कहां-कहां जिलों का पुनर्गठन हो सकता है और आवश्यकता क्या है, इसी पर जनता के साथ राय मशविरा किया जाएगा। मुख्यमंत्री धामी के ताजा बयान के बाद एक बार फिर उत्तराखंड में नए जिलों के गठन पर बहस छिड़ गई है।

 

उत्तराखंड में काफी समय से नए जिलों के गठन की मांग की जा रही है। सरकार ने नए जिलों को लेकर जन संवाद कराने का फैसला लिया है। इसके बाद जो भी निष्कर्ष सामने आएगा, उसके आधार पर नए जिले बनाए जा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here