लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार की नई कैबिनेट का विस्तार हो गया है योगी की कैबिनेट में जितिन प्रसाद को कैबिनेट मंत्री बनाया है इसके अलावा छह मंत्री पद के लिए चुने गए जिन्होंने आज ही मंत्री पद की शपथ ली

जितिन प्रसाद कैबिनेट मंत्री :- फ़ाइल फ़ोटो

विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी कोई भी मौका नहीं छोड़ना चाह रही है ऐसी स्थिति में भारतीय जनता पार्टी ने अपनी कैबिनेट का विस्तार कर दिया है भाजपा ने अपनी कैबिनेट में जितिन प्रसाद को कैबिनेट मंत्री बनाकर बहुत बड़ा दांव खेला है

जितिन प्रसाद कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे हालांकि जितिन प्रसाद के शामिल होने से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं में नाराजगी देखने को मिली थी जो वह अभी भी देखी जा रही है हालांकि भारतीय जनता पार्टी ब्राह्मण नेताओं को साधने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है लेकिन पार्टी के पुराने कार्यकर्ता अभी भी इस बात से सहमत नहीं है

सन 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी की सरकार में ब्राह्मणों को लेकर तमाम तरह के वाद-विवाद देखने को मिले थे अभी हाल ही में हुए एनकाउंटर को लेकर भी भारतीय जनता पार्टी को विरोध का सामना करना पड़ा था आपको बता दें पूर्वांचल से विकास दुबे का एनकाउंटर करने से योगी सरकार पर तमाम तरह के सवालात खड़े हुए थे जिससे भारतीय जनता पार्टी ब्राह्मण समाज को साधने में जुट गई है

सन 2022 के विधानसभा चुनाव में योगी सरकार बहुत ही मजबूती के साथ अपने आप को स्थापित करने की कोशिश कर रही है हालांकि इस बार भाजपा ने अपना एजेंडा तय नहीं किया है लेकिन अपने आप को किस तरह से स्थापित कर रही हैं यह तो वक्त ही तय करेगा

जितिन प्रसाद के कैबिनेट मंत्री बनने के बाद भारतीय जनता पार्टी के पुराने कद्दावर नेताओं को ठिकाने लगाने की कोशिश की गई है और नहीं लोगों को पार्टी में जगह दी गई है ऐसी स्थिति में पार्टी कार्यकर्ताओं के बल पर चुनाव लड़ने की बात कहती है तो वही पार्टी कार्यकर्ताओं को बराबर सम्मान देने में कहीं ना कहीं पिछड़ रही है

आपको बता दें सन 2017 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने कार्यकर्ताओं के बल पर सत्ता में कुर्सी को हासिल किया था और बूथ पर यूथ की बात को कह आम जनता तक अपनी बात पहुंचाई थी लेकिन इस बार नजारा कुछ और है

यूपी की सियासत में जितिन प्रसाद खुद को किंग मेकर के रूप में देख रहे हैं लेकिन यह तो वक्त ही तय करेगा क्या भारतीय जनता पार्टी के लिए जितिन प्रसाद ट्रम्कार्ड साबित होंगे या नहीं

खाना की जितिन प्रसाद की समाज में कितनी पकड़ है यह राय अभी बैठी हुई है तो कहीं ना कहीं आकलन यह भी है अगर जतिन प्रसाद समाज में और धरातल पर अपनी पकड़ मजबूत करते हैं तो भारतीय जनता पार्टी के लिए यह बिल्कुल किसी संजीवनी से कम नहीं होगा

जितिन प्रसाद यूपी के शाहजहांपुर और धरोहरा सीट से 2 बार लोकसभा के सांसद रह चुके हैं जितिन प्रसाद यूपी के दिग्गज नेता जितेंद्र प्रसाद के बेटे हैं

जितिन प्रसाद सन 2014 और सन 2019 का चुनाव भले ही हारे हो लेकिन यूपी के तराई क्षेत्रों में उनकी बहुत ही मजबूत पकड़ बताई जा रही है

बरहाल यह कहना अभी बहुत मुश्किल है कि भारतीय जनता पार्टी जितिन प्रसाद को कैबिनेट में किस मकसद से लेकर आइए यह कहना भी मुश्किल है क्योंकि कहीं ना कहीं भारतीय जनता पार्टी के दिग्गजों में जितिन प्रसाद के शपथ लेने के बाद सियासी भूचाल आ गया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here