spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
spot_img
spot_img
Tuesday, May 17, 2022
Homeउत्तराखंडबेटी की शादी के लिए रखा सामान और नकदी आग में जली

बेटी की शादी के लिए रखा सामान और नकदी आग में जली

-

बेटी की शादी के लिए रखा सामान और नकदी आग में जली

काशीपुर। झोपड़ियों में लगी आग एक विधवा के परिवार पर कहर बनकर टूटी। झोंपड़ी में बंधी उसकी 13 बकरियां और दस मुर्गियां जिंदा भून गई। हादसे में बीस हजार रुपये की नकदी के अलावा बेटी की शादी के लिए जुटाया सामान भी स्वाह हो गया। बकरियों को बचाने के प्रयास में एक युवती भी झुलस गई। सूचना पर एसडीएम, सीओ और राजस्व अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जांच की।

गेहूं काट र रहे मजदूर को तेंदुए ने मार डाला

अंगूरी देवी करीब 30 साल पहले हिम्मतपुर से कुंडेश्वरी की बसंत कालोनी में आकर बस गई थी। पट्टे की भूमि पर उसनेे एक कच्चा कमरा बनाया है। पास में दो झोंपड़ियां डाल रखी थीं। एक झोंपड़ी में वह बकरी और मुर्गी पालन करती थी तो दूसरी झोंपड़ी में घरेलू सामान रखा था। पति चंद्रपाल की छह फरवरी 2010 को बीमारी के चलते मृत्यु हो चुकी है। अंगूरी खेतों में मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करती है। अंगूरी ने बताया कि उसने कुंडेश्वरी से छोटी बेटी का रिश्ता तय किया है। उसकी शादी के लिए सामान एकत्र कर झोंपड़ी में रखा था।

इसके अलावा वहां 20 हजार रुपये की नकदी भी थी। अंगूरी ने बताया कि वह अपने कमरे में सो रही थी। मंगलवार देर रात करीब एक बजे आग की तपिश महसूस होने पर कमरे से बाहर जाकर देखा तो दोनों झोपड़ियां धू-धू कर जल रही थीं। आग लगने पर आसपास के लोग भी झोंपड़ियों की तरफ दौड़े, लेकिन आग पर काबू नहीं पाया जा सका। आग में झुलसकर 13 बकरियां और 10 मुर्गियां जल गईं जबकि झोंपड़ी में रखी 20 हजार की नकदी समेत छोटी बेटी प्रीति की शादी के लिए जुटाया सारा सामान जल गया।

बकरियों को बचाने के प्रयास में मायके में रह रहीं बड़ी बेटी प्रियंका भी बुरी तरह झुलस गई। दमकल टीम ने आग पर काबू पाया। एसडीएम अभय प्रताप सिंह, सीओ वीर सिंह, कानूनगो फूल सिंह, लेखपाल कुलवीर सिंह ने मौका मुआयना किया। तहसील कर्मियों ने पीड़ित परिवार को खाने के लिए दो किट उपलब्ध कराई हैं। ग्राम प्रधान पति संजय सिंह ने पीड़ित परिवार को मुआवजा दिए जाने की मांग की है।
तीन लाख का नुकसान, मुआवजा महज नौ हजार

काशीपुर। अग्निकांड में अंगूरी देवी के परिवार का लगभग तीन लाख रुपये का नुकसान हुआ है। एसडीएम के निर्देश पर कानूनगो और लेखपाल ने मौके पर पहुंचकर रिपोर्ट तैयार की। पशु चिकित्सक कंडारी ने मृत बकरियों का पोस्टमार्टम किया। लेखपाल ने बताया कि अग्निकांड में अधिकतम तीन बकरियों की मौत पर तीन -तीन हजार रुपये का मुआवजा मिल सकता है। इस संबंध में रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी गई है। इस हादसे में पति से अलग रह रही प्रियंका के मुकदमे के दस्तावेज भी नष्ट हो गए।
विद्युत लाइन में स्पार्किंग से एक एकड़ गेहूं जला

काशीपुर। हाईटेंशन लाइन में स्पार्किंग के कारण निकली चिंगारी से एक महिला के गेहूं के खेत में आग लग गई। गुलजारपुर निवासी रजविंदर कौर ने बताया बीती 12 अप्रैल की सुबह उसके खेत से गुजर रही एचटी लाइन में स्पार्किंग हुई। खेत में चिंगारियां गिरने से गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गई। दमकल की टीम ने आग पर काबू पाया। आग लगने से करीब50 हजार का नुकसान हुआ है।

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

15,000FansLike
545FollowersFollow
3,000FollowersFollow
700SubscribersSubscribe
spot_img

Latest posts

%d bloggers like this: