छत्तीसगढ़ -छत्तीसगढ़ के नक्सली प्रभावित क्षेत्र बीजापुर में उस समय हड़कंप मच गया जब सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड और एसटीएफ की टीम माओवादियों के खिलाफ अभियान चला रही थी तभी नक्सली और कमांडो के बीच में मुठभेड़ शुरू हो गई ।

नक्सलियों से लोहा लेते हुए 23 जवान शहीद
नक्सलियों से लोहा लेते हुए जवान शहीद

 

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में सेना के सुरक्षाबलों और नक्सलियों में मुठभेड़ हो गई जिसमें 22 जवान शहीद हो गए और एक जवान अभी लापता है। वहीं करीब एक दर्जन जवान जख्मी है जिन्हें हायर सेंटर रेफर किया हुआ है । छत्तीसगढ़ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि इस मुठभेड़ में नक्सली भी मारे गए हैं । खबर के मुताबिक सीआरपीएफ की कोबरा कमांडो टीम और एसटीएफ समेत कई टीम माओवादियों के सर्च ऑपरेशन में लगी हुई कर अभियान चला रही थी । तभी यह मुठभेड़ शुरू हो गई । आपको बता दें बस्तर रेंज के जिला बीजापुर के तारेम इलाके में ये मुठभेड़ हुई है ।

घटना की सूचना मिलते ही गृह मंत्री अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में हुई इस मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों के प्रति दुख व्यक्त किया है उन्होंने कहा है की जवानों का अदम्य साहस सूर्य और देश के प्रति उनके समर्पण को कभी भुलाया नहीं जाएगा अमित शाह ने कहा है कि शांति और प्रगति के विरोध करने वालों के खिलाफ देश के जवान हमेशा ऐसे ही यह लड़ाई जारी रखेगी

उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा है की मैं छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले में शहीद वीर जवानों के बलिदान को नमन करता हूं और उनके प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। राष्ट्र उनके शौर्य और समर्पण को कभी नहीं भूलेगा ।
मैं उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि इस घड़ी में ईश्वर परिजनों को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें ।

उन्होंने कहा कि हम देश की प्रगति और शांति का विरोध करने वालों के खिलाफ यह जंग जारी रखेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here