देहरादून : सीएम की घोषणा के बाद भी योग शिक्षको की नियुक्ति न होने पर प्रदेशभर के योग शिक्षकों ने सचिवालय का कुछ किया। सरकार के विरोध में की नारेबाजी उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव नजदीक है तो राजधानी में सरकार के खिलाफ धरने प्रदर्शन जारी है तो वही योग प्रशिक्षित बेरोजगार महासंघ भी आक्रोश में है महासंघ अपने कार्यकर्ताओ के साथ अपनी विभिन्न मांगो को लेकर सड़क पर उतर आया है और सचिवालय का कूच कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। महासंघ के कार्यकर्ताओ का कहना है की मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वादा खिलाफी की है बीते सितंबर को मुख्यमंत्री ने स्कूलों में योग शिक्षकों की नियुक्ति की घोषणा की थी लेकिन तीन महीने होने को है अब तक स्कूलों में योग शिक्षकों की भर्ती नहीं हुई है। महासंघ का कहना है की स्कूलों और महाविद्यालयों में योग विषय अनिवार्य होना चाहिए। जिससे बेरोजगार योग शिक्षकों की नियुक्ति हो सके

File photo

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here