उत्तराखंड में कांग्रेस के बाद अब शायद भाजपा में भी अंतर्कलह उभर रही है। कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के शुक्रवार शाम मंत्री पद से इस्तीफा देने की अटकलें आ रही थीं। लेकिन अब उन्होंने और विधायक उमेश शर्मा काऊ ने भीइस्तीफा दे दिया बता दे दिन में वे कैबिनेट बैठक को बीच में छोड़कर निकल आए थे।

पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत

गुस्साए हरक सिंह रावत ने कहा कि उनकी स्वीकृत योजनाओं को लटकाया जा रहा। हरक सिंह रावत पहले कांग्रेस में थे। हरक सिंह के पास वन मंत्री का प्रभार है।

कहा जा रहा है कि हरक सिंह रावत कोटद्वार में मेडिकल कॉलेज खोले जाने के लिए पिछले कुछ समय से सरकार पर लगातार दबाव बना रहे थे। हालांकि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक एक जिले में एक ही सरकारी मेडिकल कॉलेज खुल सकता है। श्रीनगर में पहले से मेडिकल कॉलेज है। यही वजह है कि कोटद्वार में मेडिकल कॉलेज नहीं खुल पा रहा था। इससे नाराज वन मंत्री कैबिनेट की बैठक छोड़कर चले गए है ।

भारतीय जनता पार्टी और कैबिनेट मंत्री के इस्तीफे से सा जाहिर हो रहा है कि पार्टी के अंदर अंतर कलह शुरु हो गई है हालांकि अभी उत्तराखंड कांग्रेस के अंदर गुटबाजी जोरों पर थी लेकिन अब दोनों पार्टी हास्य पर है आज शाम चल रही कैबिनेट की बैठक में मंत्री हरक सिंह रावत ने इस्तीफा देकर सियासत में भूचाल ला दिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here