डोली लेकर जाते हुए श्रद्धालु

आज पंच केदारों में प्रसिद्ध तृतीय केदार श्री तुंगनाथ भगवान के कपाट मुख्य पुजारी अतुल मैठाणी व अन्य आचार्यगणों एवं देवस्थानम बोर्ड के अधिकारियों की उपस्थिति में दोपहर 1 बजे विधि-विधान पूर्वक शीतकाल हेतु बंद कर दिये गये।
भगवान तुंगनाथ जी की चल विग्रह डोली आज चोपता प्रवास करेगी एवं कल वनतोली होते हुए भनकुन में प्रवास रहेगा। 1 नवंबर को उत्सव डोली शीतकालीन गद्दी स्थल श्री मार्कण्डेय मंदिर मक्कूमठ में विराजमान होने के साथ ही भगवान श्री तुंगनाथ जी की शीतकालीन पूजा-अर्चना भी शुरू हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here