बलबीर गिरी को मिलेगी मठ की गद्दी,जल्द होगी ताजपोशी रमता पंचो की बैठक में लिया फैसला अधिकारों का उपयोग नहीं कर सकेंगे बलबीर

देहरादून : अखिल भारतीय अखाडा परिषद के अध्यक्ष रहें नरेंद्र गिरी की बीते दिनों संदिग्ध परिस्तिथि में मौत हो गयी थी मौत के बाद जाँच का मामला सीबीआई को सौंप दिया गया है जिसमे अब पुरे मामले की जाँच सीबीआई कर रही है आपको बता दे इस मामले में पुलिस ने नरेंद्र गिरी के शिष्य आनंद गिरी को गिरफ्तार किया था जिससे अभी सीबीआई अपनी कस्टडी में लेकर पूछताछ कर रही है

महंत बलबीर गिरी

बलबीर गिरी को मिलेगी मठ की गद्दी, आपको बता दे बाघम्बरी मठ के महंत नरेंद्र गिरी की मौत का राज अभी खुला नहीं है लेकिन सीबीआई ने शक के घेरे मे कई लोगो को लिया हुआ है फिलहाल सीबीआई कई पहलुओं पर मामले की जाँच का कर रही है जिसमे मठ के कई लोग शक के दायरे में आ रहे है लेकिन अब नरेंद्र गिरी के उत्तराधिकारी की गद्दी को लेकर रमता पंच की बैठक हो गयी है बताया जा रहा है की बलबीर गिरी को नरेंद्र गिरी का उत्तराधिकारी बनाया जायेगा लेकिन

कौन है बलबीर गिरी

बलबीर गिरी महंत नरेंद्र गिरी के दूसरे नंबर के शिष्य है और हरिद्वार स्तिथ बिल्केश्वर महादेव मंदिर के व्यवस्थापक है इसी के साथ साथ बलबीर गिरी आश्रम का काम भी देखते है हलाकि बलबीर गिरी भी सीबीआई के राडार पर है सीबीआई किसी भी वक्त बलबीरी से भी पूछताछ कर सकती है

अखिल भारीतय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरि के कथित सुसाइड नोट की गुत्थी भले ही नहीं सुलझी, लेकिन अखाड़े के पंच परमेश्वरों ने संत बलबीर गिरि को बाघंबरी पीठ और लेटे हनुमान की गद्दी सौंपने पर सहमति दे दी है। श्रीमहंत नरेंद्र गिरि के षोडशी के बाद पांच अक्तूबर को संत बलबीर गिरि की शर्तों के साथ ताजपोशी तय मानी जा रही है ।

वही श्री निरंजनी अखाड़े के श्रीमहंत रविंद्रपुरी समेत पांच संतों का सुपरवाइजरी बोर्ड बनाया गया है । बोर्ड बाघंबरी पीठ और लेटे हनुमान मंदिर की संपत्ति से लेकर 30 बीघा जमीन की देखरेख करेगा। बिना बोर्ड की अनुमति के बलबीर गिरि को संपत्ति बेचना का अधिकार नहीं होगा। संन्यास परंपरा का उल्लंघन करने पर या फिर किसी भी तरह का वाद विवाद होने पर बोर्ड को बलबीर गिरि को गद्दी से हटाने का निर्णय ले सकता है ।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here