उत्साह पूर्वक सम्पन्न हुआ अभाविप का 67 वां राष्ट्रीय अधिवेशन- प्रतिनिधियों ने किया संस्कारधानी का आभार

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के 3 दिवसीय 67वें राष्ट्रीय अधिवेशन का समापन ध्वजावतरण के साथ 26 दिसम्बर को सफलतापूर्वक हुआ।

पत्रकार वार्ता में राष्ट्रीय अधिवेशन की जानकरी देते हुए प्रदेश मंत्री काजल थापा ने बताया कि अधिवेशन में आभासीय माध्यम से 2168 स्क्रीन के द्वारा 70763 कार्यकर्त्ता राष्ट्रीय परिषद् में जुड़े। कुल 665 प्रतिभागी भी प्रत्यक्ष रूप से अधिवेशन में उपस्थित रहे जिसमें नेपाल और बांग्लादेश से भी प्रतिभागी शामिल थे। राष्ट्रीय परिषद में शिक्षा की पवित्रता को बचाने हेतु शिक्षा समुदाय आगे आए, वर्तमान परिदृश्य एवं परिसर गतिविधियों में खेल बने प्राथमिकता, ये 3 प्रस्ताव भी पारित हुए।

अधिवेशन के अंतिम दिन व्यवस्था में लगे सभी कार्यकर्ताओं का परिचय भी सभी के समक्ष रखा गया। अभाविप की नवीन कार्यकारिणी जिसमे उत्तरांचल प्रान्त में पश्चिमी उत्तरप्रदेश एवं उत्तरांचल क्षेत्र के क्षेत्रीय संगठन मंत्री मनोज नीखरा (केंद्र-आगरा), प्रदेश संगठन मंत्री प्रदीप शेखावत (केंद्र देहरादून), प्रदेश सह संगठन मंत्री विक्रम फर्चान (केंद्र हल्द्वानी), केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य ऋतान्शु कंडारी (निवास श्रीनगर), राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रोहित ओझा (निवास पिथौरागड), अभिषेक मेहरा (निवास नैनीताल), डॉ. कौशल कुमार (निवास- देहरादून), डॉ. धर्मेन्द्र कुमार शाही (निवास देहरादून), प्रदीप जोशी (निवास – कर्णप्रयाग), उर्मिला बिष्ट (निवास चमोली) के नामों की घोषणा हुई।

अन्य घोषणा करते हुए राष्ट्रीय महामंत्री सुश्री निधि त्रिपाठी ने बताया कि स्वाधीनता की अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में अभाविप पूरे देश में इकाई स्तर पर तिरंगा रैली करेगी 68 वा राष्ट्रीय अधिवेशन गुवाहाटी में होगा एवं राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद बैठक शिमला में होगी अगले वर्ष अभाविप अपने 75 वर्ष में प्रवेश कर रही है और उसी के रूप में कार्य विस्तार हेतु अभाविप ने 1500 विस्तारक निकालना तय किया है अभाविप ने अगले वर्ष 50 हजार महाविद्यालय एवं 1 लाख गांव तक कार्य विस्तार करने की योजना की है।

प्रेस वार्ता में राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रदीप जोशी व्र, उर्मिला बिष्ट व जिला संयोजक ऋषभ रावत जी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here