देहरादून : उत्तराखंड दौरे के दौरान ग्रह मंत्री अमित शाह हरिद्वार कनखल स्थित हरिहर आश्रम में पहुंचें जहाँ उन्होंने आचार्य सभा की अध्यक्षता में आचार्य जूनापीठाधीश्वर अवधेशानंद गिरी और अन्य प्रमुख संतो से शिष्टाचार भेंट की।

आचार्य महामंडलेश्वर जूना पीठाधीश्वर से शिष्टाचार भेंट करते ग्रह मंत्री

वही आचार्य जूना पीठाधीश्वर से कई बड़े मुद्दों पर चर्चा की गयी। इसी दौरान आश्रम में स्थित पारदेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन कर पूजा अर्चना की। बता दे ग्रह मंत्री अमित शाह का आचार्य जूना पीठाधीश्वर से निजी दौरा था। उत्तराखंड आने से पहले ही यह कार्यक्रम तय था।

लेकिन आचार्य अवधेशानंद गिरी और ग्रह मंत्री अमित शाह के मिलने के कई कयास लगाए जा रहे है। बताया जा रहा है की इस बैठक में संतो और अखाड़ों को लेकर कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई है।

जहाँ देशभर में ऐसा ही रुतबा जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि का भी है. वह अपने कथा प्रवचन, भागवत से लाखों-करोड़ों भक्तों को मंत्रमुग्ध करने वाले अवधेशानंद गिरि से भी अमित शाह से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जेपी नड्डा से लेकर तमाम बीजेपी के बड़े नेता मिलकर आशीर्वाद ले चुके हैं..

बता दे अवधेशानंद गिरी समय समय पर भागवत गीता और प्रवचन करते रहते है जिनको सुनने के लिए देश विदेश से लोग भारत आते है। भारत वर्ष के अंदर अवधेशानंद गिरी की अलग सकारात्मक छवि है। राजनैतिक गलियारों में सफर करने वाले बड़े बड़े दिग्गज आचार्य से आशीर्वाद लेते है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब कुंभ को सीमित रखने की बात कही थी तब भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अवधेशानंद गिरि से ही बातचीत की थी,

जिसके बाद सभी अखाड़ों ने भी इस फैसले का स्वागत किया था. और सांकेतिक रूप से शाही स्नान किया गया था। अवधेशानंद गिरि के भी करोड़ों भक्त हैं और उन भक्तों की कृपा सीधे तौर पर बीजेपी पर हो सके, इसलिए भी तमाम बीजेपी नेता हरिद्वार में अवधेशानंद गिरि से मुलाकात करते रहते हैं.

इस दौरान स्वामी परमानंद सरस्वती (संयोजक हिंदू धर्म आचार्य सभा), स्वामी निर्मलानंदनाथ (प्रमुख आदि चुनचुन गिरी मठ), स्वामी ईशा नंद (तपोभूमि गोवा), स्वामी आचार्य कृष्ण मणि (प्रमुख कृष्ण प्रणामी संप्रदाय), श्री महंत शैलेन्द्र गिरी (सचिव जूना अखाडा ), महंत महेश पूरी (सचिव जूना अखाडा ) स्वामी ज्ञानानंद (गीता ज्ञान संस्थान कुरूक्षेत्र) और महामंडलेश्वर स्वामी विश्वेश्वरा नंद सरस्वती (संरक्षक सूरत गिरी बांग्ला कनखल हरिद्वार) मौजूद रहे। करीब एक घंटे की मुलाकात के बाद अमित शाह जौलीग्रांट एयरपोर्ट के लिये रवाना हो गए। अमित शाह हरी हर आश्रम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here