उत्तराखंड के विधायक खुद को अब कानून कानून से बड़ा समझने लगे जी हाँ हम बात का रहे है विधायक महेश नेगी की जिन्हे एक मामले में अदालत में हाज़िर होना था लेकिन साहब ने कानून को ठेंगा दिखाते हुए अपनी तारीख पर पेश नहीं हुए तो अदालत में इन विधायक जी पर जुर्माना ठोक दिया है वो भी एक हज़ार रूपये का

विधायक महेश नेगी

दरसल मामला कुछ यु है की विधायक महेश नेगी को पीड़िता की बच्ची के भरण पोषण भत्ते के मामले में अदालत में हाजिर नहीं हुए तो कोर्ट ने विधायक पर एक हजार रुपये जुर्माना लगा दिया है । अब उन्हें आठ अक्तूबर को परिवार न्यायालय में पेश होना होगा। कोर्ट ने इसके आदेश जारी किए हैं। इससे पहले भी विधायक नेगी कई तारीखों पर न्यायालय में हाजिर नहीं हुए हैं। पीड़िता के वकील एसपी सिंह ने बताया कि उनकी ओर से मार्च में बच्ची के भरण पोषण भत्ते की मांग की गई थी।

इसके लिए परिवार द्वारा कोर्ट में एक मुकदमा दाखिल किया गया था। इस मामले में विधायक महेश नेगी को कोर्ट कई बार हाजिर होने का मौका दे चुकी है, लेकिन विधायक एक बार भी अदालत में पेश नहीं हुए हैं। शनिवार को भी इस मामले की सुनवाई होनी थी, मगर विधायक अदालत नहीं पहुंचे।इस पर

अदालत ने उनके ऊपर एक हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। अब परिवार कोर्ट में विधायक महेश नेगी की पेशी आठ अक्टूबर को होनी है।

आपको बता दें कि अगस्त में विधायक जी की पत्नी ने एक महिला पर विधायक को ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था ।

इस मामले में मुकदमा नेहरू कॉलोनी में दर्ज किया गया था। इसके बाद महिला भी सामने आई और विधायक के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत की, लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया।

इस पर महिला ने कोर्ट की शरण लेकर न्याय की गुहार लगाई । वही कोर्ट के आदेश पर छह सितंबर 2020 को नेहरू कॉलोनी थाने में ही विधायक के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया।

बता दें कि बच्ची के भरण पोषण के लिए महिला ने 60 हजार रुपये महीना की मांग की है। महिला की ओर से विधायक पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए भी एक आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया था। इस मुकदमे की जांच महिला थाना श्रीनगर में हो रही है।

ऐसी स्तिथि में विधायक के लिए ये मामला गले की फांस बनता नज़र आ रहा है

कही टिकट में रोड़ा न बन जाए मामला

दरसल विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने कमर कस ली है और अपनी तैयारी शुरू कर दी है ऐसे में इस तरह के मामले जब सामने आते है तो विधायक जी मामलो की लीपापोती करते नज़र आते है कही इस तरह की घटनाएं विधायक का टिकट न खा जाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here