spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
spot_img
spot_img
Friday, August 19, 2022

उत्तराखंड प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में रविवार से तीन दिनों तक भरी बारिश होगी। मौसम विभाग ने ज्यादातर स्थानों पर बादल छाये रहने और बारिश होने की आशंका जतायी है । वहीं, कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश भी हो सकती है। जिससे आपदा प्रबंधन को अलर्ट पर रहने को कहा गया है  

बारिश होने से मौसम हुआ सर्द
इस बीच राजधानी देहरादून सहित राज्य के अधिकतर इलाकों में रविवार को मौसम खराब बना हुआ है। दून में तड़के से रुक-रुक कर झमाझम बारिश जारी है। तो कही कही बहुत तेज़ बारिश ने लोगो को घरो से निकलने में दिक्क़ते खड़ी कर दी है। वहीं मसूरी में भी हल्की बारिश होने से ठंड बढ़ गई है। वही नई टिहरी में भी मौसम का मिजाज बदल गया है। नई टिहरी और आसपास के क्षेत्रों में सुबह से बारिश हो रही है। नैनीताल जिले के भवाली में भी बारिश हो रही है। श्रीनगर, देवप्रयाग और कीर्तिनगर सहित अन्य क्षेत्रों में हल्की बूंदा-बांदी हुई है । वही ऋषिकेश में झमाझम बारिश हुई है । रुड़की में सुबह आठ बजे से बारिश होती रही है ।

चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी
उत्तराखंड मौसम विभाग द्वारा 17 अक्तृबर रविवार से दो-तीन दिन तक उत्तराखंड के चारधाम सहित अधिकांश पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रबंधन विभाग, पुलिस प्रशासन और सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण और आपदा प्रबंधन विभाग ने इस चेतावनी को दृष्टिगत रखते हुए सभी स्थानीय निवासियों और यात्रियों से सतर्कता बरतने, नदी नालों से दूरी बनाने और सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है। उत्तराखंड की यात्रा पर आ रहे यात्रियों और यात्रा कर रहे यात्रियों से भी अनुरोध किया है कि वह मौसम की चेतावनी को देखते हुए अपनी यात्रा की योजना बनाएं और इस अवधि में यात्रा करने से बचें। किसी बड़ी घटना को आमंत्रण न दिया जाय

श्री यमुनोत्रीधाम यात्रा में जाने वाले यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रोका गया
चारधाम यात्रा मार्ग फिलहाल सुचारू रूप से चालू है। वहीं रविवार को मौसम खराब होने की वजह से केदारनाथ यात्रा में जाने वाले यात्रियों को प्रशासन व पुलिस द्वारा सोनप्रयाग में रोका गया है । हालांकि बाद में यात्रा सुचारू हो गई।
 
वहीं केदारनाथ धाम से यात्रियों को लौटाया जा रहा है। इसका कारण यह है कि वहां क्षमता से अधिक यात्री मौजूद हैं। इसी को देखते हुए यात्रियों को लौटाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि श्रद्धालु दर्शन के बाद वापस न लौटकर वहीं रुक रहे हैं, जिस कारण धाम पर दबाव बढ़ रहा है। बताया जा रहा है श्रद्धालुओ को वह रूकने के उचित प्रबंध नहीं है

उत्तराखंड की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी
यमुनोत्रीधाम सहित आस-पास के क्षेत्र में तेज बारिश होने के साथ ही धाम से लगी ऊंची चोटियों पर बर्फबारी भी हुई है। सुबह से अभी तक 850 यात्रियोें ने मां यमुना के दर्शन किए हैं। मौसम में बदलते मिजाज के चलते प्रशासन ने यात्रियों को सुरक्षा के लिहाज से बड़कोट, खरादी, स्यानाचट्टी, राना चट्टी, जानकीचट्टी, आदि जगहों पर सुरक्षित स्थानों पर रोक दिया है। एसडीएम शालिनी नेगी ने बताया कि फिलहाल यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रुकवा दिया गया है।

Related articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

15,000FansLike
545FollowersFollow
3,000FollowersFollow
700SubscribersSubscribe
spot_img

Latest posts

%d bloggers like this: