उत्तराखंड में चारधाम यात्रा रविवार को भी जारी रही। रुद्रप्रयाग जिले में हल्के बादल छाए हुए हैं। केदारनाथ यात्रा सुचारू है। चमोली में मौसम सामान्य है। बदरीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब यात्रा भी सुचारू है। यमुनोत्री घाटी में हल्के बादल छाए हुए हैं। यहां शनिवार से यात्रियों की आवाजाही में बढ़त आई है। 

आध्यात्मिक गुरु जग्गी वासुदेव

चारधाम यात्रा में इन दिनों श्रद्धालुओं की आमद लगातार बढ़ रही है हज़ारो श्रद्धालु प्रतिदिन चारधाम के मंदिरो में दर्शन कर रहे है

बता दे बद्रीनाथ के दर्शनों के लिए आए सहारनपुर के एक श्रद्धालु की मौत हो गयी
वहीं रविवार को भगवान बदरीनाथ के दर्शनों के लिए आए सहारनपुर के 60 वर्षीय श्रद्धालु अवध बिहारी की मंदिर परिसर में अचानक तबीयत बिगड़ गई और वह बेहोश हो कर गिर गए। काफी कोशिश करने के बाद भी वह होश में नहीं तो उन्हें स्थानीय निकट अस्पताल ले जाया गया।

आध्यात्मिक गुरु जग्गी वासुदेव

जहां चिकित्स्कों ने अवध बिहारी को मृत घोषित कर दिया ।मृतक के भाई राम बिहारी ने बताया कि उन्हें हृदय की समस्या थी और उनकी बाईपास सर्जरी भी हुई थी।

इसी दौरान भारत का गुरु सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने भी किए बाबा केदार के दर्शन
आध्यात्मिक गुरु सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंच बाबा केदार के दर्शन किए। उन्होंने बताया कि वे कई दिनों से देवभूमि उत्तराखंड का भ्रमण बाइक पर कर रहे हैं। उन्होंने केदारनाथ से देश की सुख-समृद्धि की कामना करते हुए श्रद्धालुओं से उत्तराखंड चारधाम यात्रा पर आने का आह्वान भी किया।

गौरतलब है कि जग्गी वासुदेव तीन दिन पूर्व ऋषिकेश से मोटर साइकिल से केदारनाथ, बदरीनाथ धाम की यात्रा के लिए निकले थे। गुप्तकाशी से वे हेलीकॉप्टर से धाम पहुंचे। केदारनाथ से वापस गुप्तकाशी पहुंचकर वे मोटर साइकिल से बदरीनाथ के लिए रवाना हो गए हैं। उनके भक्त वाहन साथ चल रहे हैं।

अमूमन देखा गया है की कोई भी आध्यात्मिक गुरु जल्दी से बाइक को खुद चलाकर चारधाम यात्रा करने निकल जाए ऐसा बहुत कम संभव होता है हलाकि ये बात जग्गी वासुदेव ने सम्भव कर दी है की इतने बड़े अमले होने के बावजूद भी मोटर साईकिल से चारधाम की यात्रा पर निकले है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here