हरिद्वार : अखिल भारतीय अखाडा परिषद की बैठक कल प्रयाग राज में होने जा रही है, जिसको लेकर सभी अखाड़ों के संत इस अहम् बैठक में हिस्सा लेने के लिए प्रयागराज पहुंच रहे है।

बीते दिनों अखिल भारतीय अखाडा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्तिथि में मौत हो गयी थी जिसके बाद अखाडा परिषद के अध्यक्ष पद को लेकर अखाड़ों में उठापठक तेज हो गयी है।

बता दे सात अखाड़ों ने अभी तक अपना अध्यक्ष और महामंत्री तय कर दिए है लेकिन महंत हरिगिरि ने प्रयागराज में होने वाली बैठक में अपना बहुमत साबित करने को कहा है। अखाडा परिषद के अध्यक्ष को लेकर संतो की रार थमने का नाम नहीं ले रही है।

जिसके चलते अखाड़ों में घमसान मच गया है। बनायीं गयी नयी कार्यकारणी को समर्थन करने वाले निर्मल अखाड़े में भी दो फाड़ हो गए है। निर्मल अखाड़े के एक बड़े धड़े ने प्रयागराज में होने वाली प्रस्तावित बैठक को समर्थन दिया है।

अखाडा परिषद के महामंत्री महंत हरी गिरी महाराज हरिद्वार से प्रयागराज पहुंच गए है।

तो जूना अखाडा के राष्टीय सचिव श्री महंत शैलेन्द्र गिरी महाराज और सचिव महेश पूरी भी प्रयागराज के लिए रवाना हो गए है। और प्रयागराज में होने वाली महत्वपूर्ण बैठक में हिस्सा लेंगे। इस बैठक में अखाडा परिषद के अध्यक्ष का चयन हो जायेगा।

जूना अखाड़ा के महंत

बता दे पहले निरंजनी अखाड़े से महंत नरेंद्र गिरी को अखाडा परिषद का अध्यक्ष बनाया गया था लेकिन जिसके चलते उनकी संदिग्ध परिस्तिथि में मौत हो गयी थी। लेकिन उनका कार्यकाल अभी पूरा नहीं हुआ था।

ये तो तय हो गया है की अखाडा परिषद का अध्यक्ष निरंजनी अखाड़े से ही होगा। सूत्रों की माने तो अखाडा परिषद के अध्य्क्ष के लिए मनसा देवी ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत रविंद्र पूरी का नाम लगभग तय माना जा रहा है। हलाकि अभी नाम पर मुहर लगनी बाकी है।

जूना अखाडा के सचिव श्री महंत शैलेन्द्र गिरी महाराज ने बताया की अखिल भारतीय अखाडा परिषद के अध्यक्ष के लिए प्रयागराज में प्रस्तावित बैठक होने जा रही है

जिसमे सभी अखाड़े के संत हिस्सा लेंगे। प्रस्तावित बैठक के लिए लगभग सभी अखाड़े के मुख्य संत प्रयागराज पहुंच गए है। इसी बैठक में सर्वसमत्ति के साथ अखाडा परिषद के अध्यक्ष पद का नाम घोसित किया जायेगा।

श्री महंत शैलेन्द्र गिरी ने बताया की 13 अखाड़ों के समन्वय और कुंभ आयोजन के लिए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद बनी है।

परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि की 20 सितंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। जिसके बाद अखाडा परिषद के अध्यक्ष का चयन के लिए सभी अखाड़ों से नाम शामिल हो रहे है

लेकिन अखाडा परिषद के अध्यक्ष ने नाम पर बैठक में ही सहमति बनेगी उन्होंने बताया की परिषद महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि ने 25 अक्तूबर को प्रयागराज स्थित श्री निरंजनी अखाड़ा दारागंज में बैठक बुलाई है।

परिषद के अध्यक्ष की दौड़ में सबसे आगे हैं रविंद्रपुरी 
हरिद्वार कुंभ आयोजन के दौरान 18 अप्रैल को तीनों बैरागी अखाड़ों ने नाराजगी जताते हुए परिषद से खुद को अलग कर लिया था। इसके बाद अखाड़ा परिषद में 10 अखाड़े ही रह गए।

इन्हीं अखाड़ों से अध्यक्ष पद की दौड़ में श्री निरंजनी अखाड़े के सचिव एवं मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्रपुरी सबसे आगे थे। जबकि महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव रविंद्रपुरी भी प्रबल दावेदार थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here